Tag Archives: corruption in India

Hindi poems india against corruption | Hindi quotes for corruption

Hindi poems india against corruption

देश की खातिर लड़ना होगा
जो भूल की है तुमने हमने,
उसका जुर्माना तो भरना होगा !
नकाब पहने नेताओं को,
बेनकाब अब करना होगा !
उठकर खड़े हो देश की खातिर,
अब देश तुमको पुकार रहा !
जागकर देश की खातिर तुमको,
देश की खातिर लड़ना होगा !१!
मृत्यु की परवाह ना करके,
जीवन दाव पर लगा तो तुम !
देश में छुपे गद्दारों को भी,
अब ठिकाने लगा दो तुम !
नेताओं के झूठे वादों को भी,
अब सबको पहचानना होगा !
जागकर देश की खातिर तुमको,
देश की खातिर लड़ना होगा !२!
सत्ता के मद में होकर लोभी,
इठलाते और इतराते जो हैं !
नौकर होकर जनता के,
खुद को मालिक बताते जो हैं !
अब बाहर करके सत्ता से ही,
उनको सबक सिखाना होगा !
जागकर देश की खातिर तुमको,
देश की खातिर लड़ना होगा !३!
सत्ता में बैठे जो नेता,
कभी देश हित की बात ना करते !
जनता के नौकर होकर भी,
जनता के हित की बात ना करते !
ऐसे गद्दार नेताओं को भी,
सत्ता से अब उखाड़ना होगा !
जागकर देश की खातिर तुमको,
देश की खातिर लड़ना होगा !४!
निज स्वार्थ की खातिर जो,
भोली जनता पर डंडे बरसवाते हैं !
जो राष्ट्र का अन्न खाकर भी,
राष्ट्र गीत गाने में कतराते हैं !
ऐसे गद्दारों के समूल नाश का,
एक अपराध तो करना होगा !
जागकर देश की खातिर तुमको,
देश की खातिर लड़ना होगा !५!
जो समझ बैठीं हैं बापौती,
इस देश की ही सत्ता को !
जो लगा रहीं हैं नित दाव पर,
अपनी ही धरती माता को !
अब ऐसी सरकारों को भी तो,
जड़ से उखाडकर फेंकना होगा !
जागकर देश की खातिर तुमको,
देश की खातिर लड़ना होगा !६!
-  हेमन्त चौहान

Source – https://www.facebook.com/kavihemantchauhan

corruption poems in hindi | भ्रष्टाचार अब नहीं चलेगी

आज के इस कलयुग में
कहा है गाँधी की टोली ?
साथ में जिसे लिए चलते
थी शांति ही गीता की हमजोली
रामदेव, अन्ना भी गए
सरकार के इस खटाई में
शांति के साथ चतुराई भी गयी
भ्रष्टाचार की लड़ाई में
नहीं मिला मुकाम अब तक
जिसकी हमें तलाश थी
क्रांति अब वो फिर छिड़ेगी
जो सन ४७ की आवाज थी
अंग्रेज डरके भागे थे
जनता के आगे कांपे थे
वही जनता फिर जागेगी
सरकार को मिलकर भापेगी
आवाज सत्याग्रह कही नहीं
गरमजोशी का दबाव भी था
तभी देश आजाद हुआ था
जिससे भारत का गुमान हुआ था
येतो सत्याग्रह की आवाज है
गरमजोशी अभी हुयी कहा ?
इतने में सरकार लूट गयी है
नौजवान उतरेंगे तो ये भागेगी कहा ?
अंतिम समय तक चलेगी लड़ाई
भ्रष्ट नेताओ पर होगी कड़ाई
जंग हार सकते नहीं कभी
है भ्रष्टाचार की ये पहली लड़ाई
झुक जाएगी ये सरकार
फंस जायेंगे शातिर मंत्री
आखिर कबतक झूठी शान रहेगी
भ्रष्टाचार अब नहीं चलेगी
भ्रष्टाचार अब नहीं चलेगी
भ्रष्टाचार अब नहीं चलेगी