30 Crying Sms in Hindi | दर्द भरे एसएमएस | Sort Dard Hindi Shayari

January 21, 2017 Admin 0

समझौतों की भीड़-भाड़ में सबसे रिश्ता टूट गया;
इतने घुटने टेके हमने, आख़िर घुटना टूट गया;
देख शिकारी तेरे कारण एक परिन्दा टूट गया;
पत्थर का तो कुछ नहीं बिगड़ा, लेकिन शीशा टूट गया!

——————————————-

आँखों की कतारों में पसरी नमी सी है,
आज सब कुछ है ज़िन्दगी में बस तुम्हारी कमी सी है।

——————————————-

सौदा कुछ ऐसा किया है तेरे ख़्वाबों ने मेरी नींदों से,
या तो दोनों आते हैं, या कोई नहीं आता।

——————————————-

संगदिलों(Heartless/Stonyhearted) की दुनिया है ये,
यहाँ सुनता नहीं फ़रियाद कोई;
यहाँ हँसते हैं लोग तभी, जब होता है बरबाद कोई!

——————————————-

एक अज़ीब सा रिश्ता है मेरे और ख्वाहिशों के दरमियाँ,
वो मुझे जीने नही देतीं और मैं उन्हें मरने नही देता।

——————————————-

कैसे छोड़ दूँ आखिर, तुमसे मोहब्बत करना,
तुम किस्मत में ना सही, दिल में तो हो!

——————————————-

मिला के खाक में मुझको वो इस अंदाज़ में बोले,
मिट्टी का खिलौना था, कहाँ रखने के काबिल था।

——————————————-

जी भरके रोते हैं तो करार मिलता है;
इस जहान में कहाँ सबको प्यार मिलता है;
जिंदगी गुजर जाती है इम्तिहानों के दौर से;
एक जख्म भरता है तो दूसरा तैयार मिलता है।

——————————————-

निकले हम दुनिया की भीड़ में तो पता चला;
कि हर वह शख्स अकेला है जिसने मोहब्बत की है!

——————————————-

ये कह कर खुदा ने कर दिया हर गुनाह से आज़ाद मुझे,
कि तू तो पहले से ही मोहब्बत किये बैठा है,
अब इस से बड़ी कोई और सजा मेरे पास नही।

——————————————-

डूबी हैं मेरी उँगलियाँ मेरे ही खून में,
ये काँच के टुकड़ों पर भरोसे की सजा है।

——————————————-

कितनी जल्दी थी उसको रूठ जाने की,
आवाज़ तक न सुनी दिल के टूट जाने की।

——————————————-

बूँद बूँद टपकती हैं तेरी ज़ुल्फ़ों से बारिशें;
क़तरा क़तरा गिरती हैं मेरे छलनी दिल से ख़्वाहिशें।

——————————————-

खुदा की इतनी बड़ी कायनात में मैंने,
बस एक शख्स को मांगा मुझे वही ना मिला।

——————————————-

ऐसा नहीं कि दिल में तेरी तस्वीर नहीं थी,
पर हाथो में तेरे नाम की लकीर नहीं थी।

——————————————-

कुछ दिल में, कुछ कागजों पर किस्से आबाद रहे;
कैसे भूले उन्हें, जो हर धडकनों में याद रहे!

——————————————-

वो अक्सर मुझ से पूछा करती थी, तुम मुझे कभी छोड़ कर तो नहीं जाओगे,
आज सोचता हूँ कि काश मैंने भी कभी पूछ लिया होता।

——————————————-

नाम उसका ज़ुबान पर, आते आते रुक जाता है;
जब कोई मुझसे मेरी, आखिरी ख्वाहिश पूछता है।

——————————————-

सौ बार कहा दिल से कि भूल जा उसको,
हर बार दिल कहता है कि तुम दिल से नही कहते।

——————————————-

न जाने कैसी नज़र लगी है ज़माने की;
अब वजह नहीं मिलती मुस्कुराने की!

——————————————-

फिर कभी नहीं हो सकती मोहब्बत सुना तुमने;
वो शख्स भी एक था और मेरा दिल भी एक!

——————————————-

⁠⁠⁠मेरी शायरी को इतनी शिद्दत से ना पढा करो;
गलती से कुछ समझ आ गया तो बेमतलब उलझ जाओगे!

——————————————-

और भी कर देता है दर्द में इज़ाफ़ा;
तेरे होते हुए गैरों का दिलासा देना!

——————————————-

मेरी मौत पे किसी को अफ़सोस हो न हो ऐ दोस्त;
पर तन्हाई रोएगी कि मेरा हमसफर चला गया!

——————————————-

किसी को इतना भी ना चाहो कि, भुलाना मुश्किल हो जाए;
क्योंकि जिंदगी, इन्सान, और मोहब्बत तीनो बेवफा है!

——————————————-

किसी के जख़्म का मरहम, किसी के ग़म का इलाज़;
लोगों ने बाँट रखा है, मुझे दवा की तरह!

——————————————-

जीतने का दिल ही नहीं करता अब मेरे दोस्त,
एक शख्स को जब से हारा हूँ मैं।

——————————————-

इस तरह मिली वो मुझे सालों के बाद,
जैसे हक़ीक़त मिली हो ख्यालों के बाद,
मैं पूछता रहा उस से ख़तायें अपनी,
वो बहुत रोई मेरे सवालों के बाद।

——————————————-

किस ख़त में लिख कर भेजूं अपने इंतज़ार को तुम्हें;
बेजुबां हैं इश्क़ मेरा और ढूंढता है ख़ामोशी से तुझे।

——————————————-

मोहब्बत से, इनायत से, वफ़ा से चोट लगती है;
बिखरता फूल हूँ, मुझको हवा से चोट लगती है;
मेरी आँखों में आँसू की तरह इक रात आ जाओ,
तकल्लुफ़ से, बनावट से, अदा से चोट लगती है।
~ Bashir Badr

——————————————-

हँस कर कबूल क्या करलीं सजाएँ मैंने,
ज़माने ने दस्तूर ही बना लिया, हर इलज़ाम मुझ पर लगाने का।

——————————————-

जब तक था दम में दम न दबे आसमाँ से हम,
जब दम निकल गया तो ज़मीं ने दबा लिया।
~ Abid Jalalpuri

——————————————-

चिलम को पता है अंगारों से आशिकी का अंजाम,
दिल में धुआँ और दामन में बस राख ही रह जाएगी।

——————————————-

नींद भी नीलाम हो जाती है बाजार-ए-इश्क़ में,
इतना आसान भी नहीं किसी को भूल कर सो जाना।

——————————————-

क़यामत के रोज़ फ़रिश्तों ने जब माँगा उससे ज़िन्दगी का हिसाब;
ख़ुदा, खुद मुस्कुरा के बोला, जाने दो, ‘मोहब्बत’ की है इसने।

——————————————-

तजुर्बा एक ही काफी था बयान करने के लिए,
मैंने देखा ही नहीं इश्क़ दोबारा करके।

——————————————-

मोहब्बत की तलाश में निकले हो तुम अरे ओ पागल,
मोहब्बत खुद तलाश करती है जिसे बर्बाद करना हो।

Feeling Hurt Sms in Hindi

November 14, 2014 Admin 0
Mera iqraar tere inkaar see bahtar hoga,
Mera din teri raat se behtar hoga,
Yaqeen nahi tu doli see jhank kar dekhna,
Mera janaza tere baraat see bahtar hoga.
- feeling hurt sms in hindi
Usne Pyar Ka Khel Bhi Nafrat Se Khela..
Har Baar Wo Zaalim Meri Hasrat Se Khela..
Meri Jaan O Dil Pe Poora Haq Tha Use..
Dukh Itna Hai Ki Wo Meri Jazbaat Se Khela..
Dil Toda To Bikharne Bhi Na Diya Usne..
Mere Dil Ke Saath Kitni Ulfaat Se Khela..
Kaise Uske Haatho Mai Barbaad Na Hoti..
Dosto Pehli Baar Zndgi Me Koi Itni Mohabbat Se Khela..!
feeling hurt sms in hindi