aaj ke vichar in hindi

व्यर्थ बोलने की अपेक्षा मौन रहना अच्छा है।

- स्वामी विवेकानंद
मूर्खों का समयव्यसन,नींद
तथा लड़ाई-झगड़े में व्यतीत
होता है, जबकि विद्वानों का
समयसकारात्मक चिंतन और
श्रेष्ठ कार्यों में व्यतीत होता है।

-नारायण पंडित
इतने खुश रहें कि जब
दुसरे आपको देखें, तो वे भी
खुश हो जाएं।   !|!|! aaj ke vichar !|!|!
जिसे समाज उचित मानकर चले,
जिसमें सबको अधिकार और सुविधएं प्राप्त हों,
जिसमें भेदभाव न हो, वही न्याय है।

-मेरियम 
क्रूरता का उत्तर क्रूरता से देने का अर्थ अपने नैतिक व बौद्धिक पतन को स्वीकार करना है।
                                                                                                        -महात्मा गांधी
कायर मनुष्य कभी भी सदाचारी और नीतिवान नहीं हो सकता है।

-महात्मा गांधी!|!|! aaj ke vichar in hindi !|!|!
जिस समाज का एकमात्र लक्ष्य न्याय होगा, वही समाज आदर्श समाज कहलाएगा

- डॉ राधाकृष्णन
प्रेम की दीक्षा बिना जीवन नीरस उत्साहीन, निराशा
तथा नकारात्मक विचारों से घिरा रहता है।

-प्रेमचंद !|!|! aaj ke vichar !|!|!
स्त्री की उन्नति या अवनति पर ही राष्ट्र की उन्नति या अवनति निर्भर करती है।

-अरस्तू 
जिस किसी से भी जितना भी ज्ञान मिले,
उसे प्राप्त कर लेना चाहिए और बदले में
कृतज्ञता प्रकट करनी चाहिए।

-चाणक्य
आत्मरक्षा हेतु मारने की शक्ति से बढ़कर मरने की हिम्मत होनी चाहिए।

-महात्मा गांधी

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*